MCQ of Production and cost Managerial Economics

MCQ of Production and cost Managerial Economics

MCQ of Production and cost Managerial Economics

MCQ of Production and cost Managerial Economics:- In this post, we have provided MCQs (Multiple Choice Questions) for MCom 2nd Year Managerial Economics for you, each MCQ has their answers below so that it is very easy for you to read it. Do share this post with your friends. 100 questions are available in this post. MCQ Production and cost

Production and cost Managerial Economics

  1. उत्पादन फलन से आशय है –

(a) उत्पत्ति के साधनों का विस्तार

(b) सीमान्त उपयोगिता का ह्रास

(c) उत्पादन बढ़ाने के तरीके

(d) साधन व उत्पादन की मात्रा में सम्बन्ध ()

  1. अल्पकालीन उत्पादन फलन में साधनों का –

(a) अनुपात बदलता है ()

(c) उत्पादन की मात्रा बदलती हैं

(b) पैमाना बदलता है

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. समोत्पाद वक्र –

(a) अधिकतम उत्पादन को बताता है

(b) दो साधनों के उन विभिन्न संयोगों को बताता है, जिससे समान उत्पादन मिलता है। ()

(c) उत्पादन की बदलती हुई मात्रा को बताता है।

(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं।

  1. विस्तार पथ को कहते हैं –

(a) अनुपात रेखा ()

(b) न्यूनतम लागत रेखा

(c) फर्म के पैमाने की रेखा

(d) इनमें से कोई नही|

  1. अनुपात एवं पैमाना का विचार क्रमश: सम्बन्धित है –

(a) अल्पकाल, दीर्घकाल से ()

(b) दीर्घकाल, अल्पकाल से

(c) दीर्घकाल, दीर्घकाल से

(d) अल्पकाल, अल्पकाल से|

  1. पैमाने के प्रतिफल का सम्बन्ध होता है –

(a) अल्पकाल से

(b) दीर्घकाल से ()

(c) अल्पकाल व दीर्घकाल दोनों से

(d) इनमें से कोई नही|

  1. यदि उत्पत्ति के साधनों को 30% से अधिक बढ़ाया जाए और इसके फलस्वरूप उत्पादन की मात्रा में 50% वृद्धि हो जाए तो हम कहेंगे कि निम्न नियम लागू हो रहा है –

(a) पैमाने का ह्रासमान प्रतिफल

(b) पैमाने का वर्द्धमान प्रतिफल

(c) पैमाने का स्थिर प्रतिफल ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. परिवर्तनशील अनुपात के नियम का सम्बन्ध होता है –

(a) अल्पकाल से

(b) दीर्घकाल से

(c) अल्पकाल व दीर्घकाल दोनों से

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. परिवर्तनशील अनुपात के नियम की तृतीय अवस्था में –

(a) AP ऋणात्मक होती है

(b) NP ऋणात्मक ()

(c) (a) व (b) दोनों

(d) इनमें से कोई नहीं|

  1. समोत्पाद वक्र का ढाल –

(a) सदैव धनात्मक होता है

(b) सदैव ऋणात्मक होता है। ()

(c) पूर्णत: अनिश्चित होता है

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. आर्थिक लागत में किसको शामिल नहीं किया जाता है –

(a) सामान्य लाभ

(b) गैर-लेखांकन लागत ()

(c) लेखांकन लागत

(d) मौद्रिक लागत।

  1. “अल्पकालीन कुल लागत दीर्घकालीन कुल लागत से कभी कम नहीं हो सकती।” यह कथन है –

(a) सत्य ()

(b) सन्दिग्ध

(c) असत्य

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. उत्पादन में परिवर्तन पर परिवर्तित होने वाली लागतें कहलाती हैं –

(a) प्रत्यक्ष लागतें

(b) परिवर्तनशील लागतें ()

(c) सीमान्त लागतें

(d) कुल लागते ।

  1. विशिष्ट प्रयोग वाले उत्पादन के साधन की अवसर लागत है –

(a) समान

(b) शून्य ()

(c) अनन्त

(d) बहुत अधिक।

  1. “उत्पादन प्रक्रिया में प्रकृति उत्पत्ति ह्रास नियम के अनुकूल कार्य करती है। यह परिभाषा दी गई है –

(a) प्रो० मार्शल द्वारा ()

(b) प्रो० एडम स्मिथ द्वारा

(c) रिकार्डो तथा माल्थस द्वारा

(d) प्रो० टॉमस द्वारा।

  1. समोत्पाद वक्र पर उत्पादन का परिमाणात्मक स्तर –

(a) स्थिर रहता है। ()

(b) घटता रहता है

(c) बढ़ता रहता है।

(d) ये सभी।

  1. समोत्पाद वक्र की तकनीकी प्रतिस्थापन की सीमान्त दर है –

(a) Δ x / Δy

(b) –Δy / -Δx

(c) Δy / Δx ()

(d) –Δx / -Δy

  1. रिज रेखाओं पर साधनों की सीमान्त उत्पादकता होती है –

(a) शून्य ()

(b) धनात्मक

(c) (a) व (b) दोनों

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. सम लागत रेखा को साधन-कीमत रेखा भी कहते हैं –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. पूर्णतया पूरक साधनों की दशा में समोत्पाद वक्र होता है –

(a) U-आकति का

(b) X-अक्ष के समान्तर

(c) L-आकृति का ()

(d) Y-अक्ष के समान्तर

  1. उत्पत्ति ह्रास नियम का सबसे पहले उल्लेख किसने किया था –

(a) डॉ० मार्शल ने

(b) सर एडवर्ड वेस्ट ने ()

(c) तुर्गों ने

(d) पीगू ने।

  1. उत्पत्ति ह्रास नियम की वैज्ञानिक विवेचना की थी –

(a) प्रो० मार्शल ने ()

(b) प्रो० रॉबिन्सन ने

(c) प्रो० बेनहम ने

(d) प्रो० बोल्डिंग ने।

  1. उत्पत्ति ह्रास नियम का दूसरा नाम है –

(a) उत्पादन वृद्धि का नियम

(b) परिवर्तनशील अनुपातों का नियम ()

(c) पैमाने के प्रतिफल के नियम

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. पैमाने की अवधारणा होती है –

(a) दीर्घकालीन

(b) अल्पकालीन

(c) (a) व (b) दोनों

(d) ये सभी।

25. तकनीकी बचत होती है –

(a) बाह्य बचत के कारण

(b) आन्तरिक बचत के कारण ()

(c) व्ययों पर अंकुश के कारण

(d) व्ययों में कटौती करने के कारण।

  1. जब उत्पादन की लागत को मौद्रिक इकाइयों में व्यक्त किया जाता है तो उसे मुद्रा लागत कहते हैं। यह कथन है

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. अवसर लागत का सर्वप्रथम विचार आया था –

(a) डेवन पोर्ट को

(b) वाइजर को

(c) डी०एल० ग्रीन को ()

(d) हेबरलर को।

  1. वास्तविक लागत (Real Cost) को _______ भी कहते है|

(a) त्याग लागत

(b) सामाजिक लागत ()

(c) कुल लागत

(d) अवसर लागत।

  1. स्पष्ट लागतें (Explicit Costs) होती हैं –

(a) कच्चा माल

(b) मजदूरी

(c) कर व बीमा

(d) ये सभी। ()

  1. अस्पष्ट लागतें (Implicit Costs) में सम्मिलित हैं –

(a) स्वामी की पूँजी पर ब्याज

(b) स्वामी का पारिश्रमिक

(c) स्वामी के भवन का किराया

(d) ये सभी। ()

  1. स्थायी सम्पत्तियों पर ह्रास की राशि कहलाती है –

(a) रोकड़ लागत

(b) किताबी लागत ()

(c) अल्पकालीन लागत

(d) ये सभी।

  1. जो लागतें उत्पादन के शून्य होने पर भी जारी रहती है, वह कहलाती है –

(a) परिवर्तनशील लागत

(b) स्थिर लागत ()

(c) कुल लागत

(d) प्रभुत्व लागत।

  1. संयन्त्र के स्थायी रूप से बन्द करने पर आयी लागतें कहलाती हैं –

(a) कार्य परित्याग लागतें ()

(b) डूबत लागते

(c) तालाबन्दी लागतें

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. दीर्घकालिक उत्पादन फलन का सम्बन्ध है –

(a) उत्पत्ति ह्रास नियम से

(b) पैमाने के प्रतिफल से ()

(c) परिवर्तनशील अनुपात के नियम से

(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं।

  1. क्या उत्पत्ति ह्रास नियम की क्रियाशीलता को स्थगित किया जा सकता है –

(a) हाँ ()

(b) नहीं

(c) सन्दिग्ध

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. घटते प्रतिफल नियम को किस क्षेत्र में लागू किया गया था –

(a) खनन क्षेत्र में

(b) उद्योग क्षेत्र में

(c) कृषि क्षेत्र में ()

(d) मकान निर्माण क्षेत्र में।

  1. घटते प्रतिफल का नियम उतना ही सार्वभौमिक है जितना कि जीवन का नियम क कथन किसका है –

(a) विक्स्टीड का ()

(b) श्रीमती जोन रोबिन्सन का

(c) माल्थस का

(d) रिकाडों का।

  1. उत्पत्ति ह्रास नियम लागू होता है –

(a) खनन उद्योग पर

(b) मछली पालन उद्योग पर

(c) मकान निर्माण उद्योग पर

(d) ये सभी। ()

  1. उत्पत्ति वृद्धि नियम एवं उत्पत्ति ह्रास नियम के बीच की कड़ी को उत्पत्ति सम नियम कहते हैं। यह कथन है –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. पैमाने के प्रतिफल को भी कहते हैं।

(a) अल्पकालीन उत्पादन फलन

(b) दीर्घकालीन उत्पादन फलन ()

(c) उत्पादन फलन

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. प्रो० बॉमोल के अनुसार पैमाने के बढ़ते प्रतिफल के लागू होने का प्रमुख कारण है –

(a) श्रम विभाजन

(b) साधनों का विभाजन

(c) परिमाणात्मक सम्बन्ध ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. मूल बिन्दु से खींची गई रेखा दर्शाती है –

(a) पैमाना ()

(b) बचत

(c) अनुपात

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. तकनीकी बचत उदाहरण है –

(a) आन्तरिक बचत का ()

(b) बाह्य बचत का

(c) लाभ का

(d) कम लाभ का।

  1. किस वक्र का परावर्तन बिन्दु पहले आता है –

(a) सीमान्त लागत वक्र ()

(b) औसत परिवर्तनशील लागत वक्र

(c) औसत स्थिर लागत वक्र

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. अल्पकाल में कुल उत्पादन लागत होती है –

(a) TFC-TVC

(b) TC – TVC

(c) TFC + TVC ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. दीर्घकालीन औसत लागत वक्र को कहा जाता है –

(a) आवरण वक्र

(b) नियोजन वक्र

(c) (a) व (b) दोनों ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. सीमान्त लागतों के सर्वाधिक समीप है –

(a) स्थिर लागत

(b) परिवर्तनशील लागत ()

(c) औसत लागत

(d) ये सभी।

  1. जब औसत लागत न्यूनतम होती है तो सीमान्त लागत उसके होती है।

(a) कम

(b) अधिक

(c) बराबर ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. उत्पादन शून्य होने पर अल्पकाल में स्थिर लागत शून्य हो जाती है| यह कथन होगा

(a) सत्य

(b) असत्य ()

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. सीमान्त लागत मूल लागत और परिवर्तनशील लागत का योग है –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

MCQ Production and cost

  1. सीमान्त लागत का सबसे अधिक सम्बन्ध होता है –

(a) आय से

(b) कुल लागत से ()

(c) परिवर्तनशील लागत से

(d) मात्रा से।

  1. “श्रम विभाजन पैमाने के प्रतिफल का मुख्य कारण होता है।” यह कथन है –

(a) प्रो० चैम्बरलिन का ()

(b) प्रो० मार्शल का

(c) प्रो० रॉबिन्सन का

(d) प्रो० पीगू का।

  1. जब उत्पत्ति के साधनों में 10% वृद्धि होती है तो उत्पादन भी 10% बढ़ता है। यह कहलाता है –

(a) पैमाने के प्रतिफल

(b) पैमाने के स्थिर प्रतिफल ()

(c) वृद्धिशील नियम

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. सभी उत्पत्ति साधनों के परिवर्तनशील होने के कारण उत्पादन का पैमाना (Scale of Production) परिवर्तित किया जा सकता है। यह कथन होगा –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नही|

  1. औसत स्थिर लागत का सूत्र होता है –

(a) Total Cost / Output

(b) Total Fixed Cost / Output ()

(c) Total Fixed Cost / Input

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. शून्य उत्पादन होने की दशा में कुल परिवर्तनशील लागत होगी –

(a) कुल लागत के बराबर

(b) कुल स्थिर लागत के बराबर

(c) शून्य ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. अल्पकाल में उत्पत्ति के कुछ साधन स्थिर होते हैं तथा कुछ परिवर्तनशील। यह कथन है –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. एक वस्तु के उत्पादन में समाज के विभिन्न वर्गों द्वारा किया गया प्रयत्न एवं त्या उत्पादन की वास्तविक लागत कहलाती है। यह परिभाषा दी है –

(a) प्रो० पीयू ने

(b) प्रो० बेनहम ने

(c) प्रो० मार्शल ने ()

(d) प्रो० सैम्युलसन ने।

  1. कुल मौद्रिक लागत में सम्मिलित होता है –

(a) कुल स्पष्ट लागत

(b) कुल अस्पष्ट लागत

(c) सामान्य लाभ

(d) ये सभी। ()

  1. उत्पत्ति ह्रास नियम अल्पकालीन उत्पादन फलन का नियम है –

(a) प्रथम

(b) द्वितीय

(c) तृतीय ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. “जब कभी उत्पादक साधनों को एक दिए हुए अनुपात में बढ़ाया जाता है तब उत्पादन भी उसी अनुपात बढ़ जाता है।” यह कथन है –

(a) प्रो० स्टिगलर का ()

(b) श्रीमती जोन रोबिन्सन का

(d) प्रो० पीगू का।

(c) प्रो० मार्शल का

  1. श्रम तथा पूँजी की वृद्धि करने से उत्पत्ति के साधनों का संगठन सामान्यतया अधिक उत्तम हो जाता है जिसके परिणामस्वरूप साधनों की कुशलता बढ़ जाती है”। यह कथन है –

(a) प्रो० सैम्युलसन का

(b) प्रो० मार्शल का ()

(c) प्रो० बेनहम का

(d) प्रो० कीथ डेविस का।

  1. अल्पकालीन उत्पादन फलन का दूसरा नाम है –

(a) उत्पत्ति के नियम

(b) परिवर्तनशील अनुपात के नियम

(c) दोनों (a) व (b) दोनों ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. कॉब डगलस उत्पादन फलन समरूप फलन है –

(a) प्रथम घात वाला ()

(b) द्वितीय घात वाला

(c) तृतीय घात वाला

(d) चतुर्थ घात वाला।

  1. कॉब डगलस उत्पादन फलन है –

[जहाँ Q = वस्तु की मात्रा, L= श्रम, C = पूँजी, d तथा K= धनात्मक स्थिरांक हैं जिसमें 0<a< 1 है]

(a) Q = KldC1-d ()

(b) Q = KL1-xdCd

(c) Q = KLCd – 1

(d) Q = KLd -1Cd

  1. विभेदात्मक एकाधिकार के अन्तर्गत मूल्य तथा उत्पत्ति निर्धारण में किस नियम का प्रयोग किया जाता है

(a) MR = MC = MR1 = MR2 ()

(b) AR = MR

(c) MC = AR

(d) MR1 = MR2

  1. रेलवे के डिब्बे का प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय श्रेणियों में विभाजन –

(a) द्वितीय श्रेणी मूल्य विभेद का सर्वोत्तम उदाहरण है। ()

(b) व्यावसायिक मूल्य विभेद का सर्वोत्तम उदाहरण है।

(c) प्रथम श्रेणी मूल्य विभेद का सर्वोत्तम उदाहरण है

(d) उपर्युक्त सभी।

  1. विभेदीकृत उत्पादन का सम्बन्ध है –

(a) पूर्ण प्रतियोगिता से

(b) एकाधिकारात्मक प्रतियोगिता से ()

(c) एकाधिकार से

(d) इन सभी से।

  1. MC वक्र का 0

(a) AC के साथ कोई सम्बन्ध नहीं होता

(b) AVC के साथ AC वक्र के विपरीत सम्बन्ध होता है।

(c) AVC के साथ वही सम्बन्ध होता है जो AC के साथ होता है ()

(d) उपर्युक्त सभी

  1. मूल बिन्दु से खींची गई कोई भी रेखा कहलाती है –

(a) पैमाना ()

(b) अनुपात

(c) (a) व (b) दोनों

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. AC के न्यूनतम होने की दशा में सीमान्त लागत, औसत लागत –

(a) से अधिक होती है

(b) से कम होती है

(c) से बराबर होती हैं ()

(d) ये सभी।

  1. घटती औसत लागत की दशा में सीमान्त लागत हो सकती है –

(a) कम

(b) अधिक

(c) स्थिर

(d) ये सभी| ()

  1. आन्तरिक एवं बाहरी बचतों के कारण उत्पन्न होता है –

(a) पैमाने का घटता प्रतिफल

(b) पैमाने का स्थिर प्रतिफल

(c) पैमाने का बढ़ता प्रतिफल ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. कुल स्थिर लागत –

(a) उत्पादन के आकार पर निर्भर करती है

(b) शून्य उत्पादन पर शून्य होती है.

(c) कुल उत्पादित इकाइयों पर निर्भर करती है

(d) उत्पादन के आकार से स्वतन्त्र होती है। ()

  1. स्थिर लागतों को भी कहते हैं –

(a) पूरक लागत ()

(b) दीर्घकालीन लागत

(c) प्रशासनिक लागत

(d) इनमें से कोई नहीं।

MCQ Production and cost

  1. दीर्घकाल में उत्पत्ति का प्रत्येक साधन परिवर्तनशील होता है। यह कथन है –

(a) असत्य

(b) सन्देहात्मक

(c) सत्य ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. कुल परिवर्तनशील लागत, उत्पादन की मात्रा का एक फलन होता है। यह कथन है

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) संदेहात्मक

(d) इनमें से कोई नही|

  1. एक अतिरिक्त इकाई उत्पादन में वृद्धि होने से कुल लागत में होने वाली वृद्धि कहलाती है –

(a) परिवर्तनशील लागत

(b) सीमान्त लागत ()

(c) स्थिर लागत

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. विदेशी बाजार प्रतियोगिता का सामना करने के लिए जो क्रिया अपनाई जाती है वह कहलाती है –

(a) राशिपतन ()

(b) कीमत विभेद

(c) मूल्य विभेद

(d) ये सभी।

  1. बजटिंग उन सम्पत्तियों के व्ययों की योजना है जिसके लाभ भविष्य काल मिलेंगे –

(a) मिल्टन एच० स्पेन्सर ()

(b) ई०ई० नीमर्स

(c) जोयलडीन

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. किस अर्थशास्त्री ने मुद्रास्फीति की तुलना डाइ से की है –

(a) जोयलडीन

(b) प्रो०सी०एन० वकील ()

(c) प्रो० गाल ब्रेथ

(d) प्रो० कूरिहारा।

  1. उत्पादन प्रक्रिया में एक फर्म द्वारा उपयोग किए जाने वाले इनपुट को कहा जाता है –

(a) उत्पादन के कारक ()

(b) उत्पादन के अंग

(c) उत्पादन आदानों

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. “यदि कृषि कला में उन्नति न हो तो सामान्यतः कृषि में लगाई पूँजी व श्रम की इकाई से कम अनुपात में उत्पादन बढ़ता है। यह परिभाषा दी है –

(a) प्रो० रिकार्डो ने

(b) प्रो० पीगू ने

(c) प्रो० मार्शल ने ()

(d) प्रो० माल्यस ने।

  1. उत्पत्ति के प्रतिकल के नियमों के विकास में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया गया है –

(a) प्रो० एडमस्मिथ द्वारा

(b) प्रो० रिकार्डो द्वारा

(c) प्रो० मार्शल द्वारा

(d) इन सभी के द्वारा। ()

  1. परिवर्तनशील अनुपातों का नियम को अन्य नामों से भी पुकारा जाता है –

(a) अनुपात का नियम

(b) प्रतिफल का नियम

(c) सीमान्त उत्पादकता ह्रास नियम

(d) ये सभी। ()

  1. “उपयोगिता के सृजन’ के स्थान पर ‘उपयोगिता में वृद्धि करना अधिक पसन्द करते हैं। यह परिभाषा किसने दी है –

(a) प्रो० टॉमस ने

(b) प्रो० फ्रेजर ने

(c) प्रो० पीगू ने

(d) प्रो० मेहता ने। ()

  1. साधन की एक अतिरिक्त इकाई के प्रयोग से होने वाला उत्पादन कहलाता है –

(a) परिवर्तनशील उत्पाद

(b) स्थिर उत्पाद

(c) सीमान्त उत्पाद ()

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. उत्पादन के साधनों के संयोग में एक साधन का अनुपात ज्यो-ज्यों बढ़ाया जाता है, उस साधन का सीमान्त तथा औसत उत्पादन घटता जाता है। यह परिभाषा दी है –

(a) प्रो० बोल्डिंग ने

(b) प्रो० बेन्हम ने ()

(c) प्रो० पींगू ने

(d) प्रो० फ्रेजर ने।

  1. कुल उत्पाद वह उत्पादन है जो परिवर्तनशील साधनों की निश्चित इकाइयों में प्रयोग से होता है। यह कथन है –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) उपरोक्त में से कोई नहीं।

  1. फलन शब्द गणित की एक शाखा चलन-फलन (Calculus) से लिया गया है। यह कथन है –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. ” किसी फर्म की भौतिक आदाओं एवं भौतिक प्रदा के बीच सम्बन्ध को प्रायः उत्पादन फलन कहते हैं। यह परिभाषा दी है –

(a) प्रो० वाटसन ने ()

(b) प्रो० सैम्यूलसन ने

(c) प्रो० लैफ्टविच ने

(d) प्रो० फेजर ने।

  1. निम्नलिखित में से कौन एक बाजार संरचना का प्रकार नहीं है –

(a) प्रतियोगी एकाधिकार ()

(b) अपूर्ण प्रतियोगिता

(d) पूर्ण प्रतियोगिता।

  1. अल्पकालीन उत्पादन फलन को अन्य नाम से भी पुकारा जाता है –

(a) परिवर्तनशील उत्पादन फलन

(b) स्थिर अनुपात वाला उत्पादन फलन ()

(c) सीमान्त उत्पादन फलन

(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं।

  1. दीर्घकालीन उत्पादन फलन को अन्य नाम से भी पुकारा जाता है –

(a) दीर्घकालीन स्थिर उत्पादन फलन

(b) परिवर्तनशील लागत फलन

(c) परिवर्तनशील साधनों वाला उत्पादन फलन ()

(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं।

  1. परिवर्तनशील अनुपातों का नियम, उत्पादन फलन की एक अवस्था कहलाती है। यह कथन है –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. कॉब डगलस उत्पादन फलन की आलोचना के कारण हैं –

(a) अव्यावहारिक मान्यताएँ

(b) उत्पादन साधनों की अविभाज्यता की उपेक्षा

(c) उत्पादन केवल पूँजी व श्रम का फलन नहीं है।

(d) उपरोक्त सभी। ()

  1. उत्पादन फलन एक अभियांत्रिक अवधारणा है। यह कथन है –

(a) सत्य ()

(b) असत्य

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. उत्पत्ति साधनों की प्रतिस्थापन लोच असीमित होती है –

(a) सत्य

(b) असत्य ()

(c) सन्देहात्मक

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. उत्पादन की दूसरी अवस्था में श्रम की औसत उत्पादकता है –

(a) घटती है। ()

(b) बढ़ती है

(c) स्थिर रहती है

(d) इनमें से कोई नहीं।

  1. उत्पत्ति ह्रास नियम अर्थशास्त्र का नियम है।

(a) सामान्य

(b) आधारभूत ()

(c) प्रथम अवस्था का

(d) इनमें से कोई नहीं।

MCQ Production and cost

MCQ of Production and cost Managerial Economics
MCQ of Production and cost Managerial Economics

Follow me at social plate Form
Facebook Instagram YouTube Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Home
B.com
M.com
B.sc
Help