B com 2nd Year Public Finance Question Paper 2016

B com 2nd Year Public Finance Question Paper 2016

B com 2nd Year Public Finance Question Paper 2016 :- 




नोट : इस प्रशन को पाच  खण्डो- अ, ब तथा स में भी विभाजित किया गया है | खण्ड-अ में विस्ततर-उतरीय प्रशन, खण्ड ब में लघु-उतरीय प्रशन तथा खण्ड स में अति लघु उतरीय प्रशन है | सभी खण्डो को हल करे |


B. Com II Year Examination, 2016 (Unified Syllabus )

Commerce-VI (Public Finance)

           Time : 3 Hrs. ]                                                                                                                           [M.M. : 100


खण्ड-अ  (Section-A) 

इस खण्ड में एक प्रशन के दस भागो के लघु उतरी अपेषित है प्रत्येक भाग 4 अंक का है |

This Section contains one question of ten parts requiring short Answer. Exam part carries 4 marks.

1.(i) सावर्जनिक वस्तुओ एव निजी वस्तुओ को परिभाषित कीजिए | Deffine Public goods and Private goods.

(ii) अधिकतम सामाजिक लाभ का सिद्धान्त क्या है ? What is Maximum Social Advantages ?

(iii) प्रो. फिंडल शिराज का सावर्जनिक व्यय का वर्गीकरण |

Classification of Public Expenditure by Prof. Findlay Shirras.

(iv) एकल कर बनाम बहुकर प्रणाली | Single Tax V/s Multiple Tax System.

(v) वैट का अर्थ स्पष्ट कीजिए | Explathe the meaning of VAT.

(vi) कराघात एव करापात में अन्तर बताए | Distinguish between Incidence of tax and Impact of tax.

(vii) ऋण के शोधन से क्या आशय है ? What is meant by refunding of Debt ?

(viii) सघीय वित् से क्या तात्पर्य है ? What is meant by Federal Finance ?

(iX) भारतीय कर प्रणाली के दोष | Demerits of Indian Tax System.

(X) निरपेक्ष करदान शमता से आप क्या समझते है ? What do you mean by Absolute Taxable Capacity?



खण्ड-ब (Section-B)

प्रत्येक खण्ड में दो प्रशन है | प्रत्येक खण्ड से एक प्रशन कीजिए | प्रत्येक प्रशन 15 अंक का है | विस्तत्र उतर अपेक्षित है |

Each Section contains two question. attempt one question from each Section. Each question carries 15 Marks. Answer must be descriptive.

  1. ‘राजकीय और व्यक्तिगत अर्थ-प्रबन्धन दोनों को समानान्तर धुरो पर चलाना भूल है | ”आलोचनात्मक समीक्षा कीजिए |

“It is the mistake to assume an exact parallelism between Private and Public Finance”. Examine Critically.

अथवा 

  1. बजट को परिभाषित कीजिए | कार्यक्रम एव निष्पादन बजटीग को स्पष्ट कीजिए |

Define budget. Explain programming and performance budgeting.

खण्ड-स (Section-C)

  1. देश में धन के वितरण पर सरकारी व्यय का क्या प्रभाव है ? सावर्जनिक व्यय न्यूनतम होना चाहिए या अधिकतम ?

What are the effects of Public expenditure on distribution of wealth ? Should public expenditure be at to minimum or maximum ?

अथवा 

5. लोक व्यय के प्रमुख सिद्धान्त क्या है ? समझाइये | What are the canons of Public expenditure ? Explain.

खण्ड-द (Section-D)

6. प्रत्यक्ष एव अप्रत्यक्ष करो के सापेक्षिक गुणों की व्याखया कीजिए | Discuss the relative merits of direct and indirect taxes.

अथवा

7. कर, शुक्लो एव कीमतों में अन्तर स्पष्ट कीजिए | Differenciate between taxes, fees and prices.

खण्ड-इ (Section-E)

8. सावर्जनिक ऋण क्या है ? सावर्जनिक ऋण के विकास एव उदेश्यों की व्याख्या कीजिए | What is Public Debt? Explain its growth and objectives.

अथवा

9. भारत में केन्द्रीय एव राज्य सरकारों के मध्य आय की मदों के विभाजन की विवेचना कीजिए |

State the division of the items of income between Central and State government in India.



Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Home
B/M.com
B.sc
Help
Profile
Scroll to Top